क्या आंदोलन लम्बे समय तक टिक पाएगा?